Short Story Of Mukesh Ambani Biography In Hindi

Mukesh Ambani Biography In Hindi

Mukesh Ambani Biography In Hindi

हर इंसान बचपन से ही सफल और पैसे वाला बनने का सपना देखता है लेकिन ऐसे बहुत काम लोग है जो न केवल ऐसे सपने देखते है बल्कि उन्हें पूरा करने की हिम्मत भी रखते है भारत के सबसे अमीर लोगो में शुमार मुकेश अंबानी भी उन्ही लोगो में गिने जाते है मुकेश अंबानी को उनके पिता धीरूभाई अंबानी से ही विरासत में लगन व मेहनत की शिक्षा मिली जिसके चलते आज वह न केवल एक सफल Business Man है बल्कि नयी युवा पीढ़ी के लिए प्रेरास्रोत भी है जहा लोग अपने अतीत में केवल कृषि और सरकारी नौकरी को ही अपना पेशा मानते थे ऐसे में मुकेश अंबानी ने इस विचारधारा से हटकर Entrepreneurship के बारे में सोचना और उसे सफल बनाना ही बहुत बड़ी बात है.

मुकेश अंबानी ने 2002 में अपने बेहतर बिजनेस स्किल के चलते Reliance Communication Limited की स्थापना कर लोगो को दिखा दिया की यदि आप में हिम्मत है तो आप अपने हर सपने को पूरा कर सकते है और उसके बाद मुकेश अंबानी ने वो किया जो की भारत में किसी क्रांति से काम नहीं था और वो थी Most Awaiting Jio की लांचिग जो दुनिया की सबसे सस्ती सर्विस वैल्यू है जोकि आज भारतीय मोबाइल यूज़र्स के लिए किसी वरदान से कम नहीं ,जोकि भारतीय टेलीकॉम सेक्टर में एक बहुत बड़ा कदम था और यह कदम मुकेश अंबानी के लिए काफी सफलता भरा रहा जिसने उन्हें मोबाइल की दुनिया का बादशाह बना दिया आज शायद हर तीन वय्क्ति में से दो के पास अंबानी द्वारा लांच जिओ सर्विस सेवा है.
मुकेश अंबानी का जन्म आदान, यमन में हुआ है वह Reliance Industries Limited के सस्थापक धीरूभाई अंबानी और कोकिलाबेन अंबानी के सबसे बड़े पुत्र है उनके दो और छोटे भाई और दो बहने भी है धीरूभाई अंबानी यमन में पेट्रोल पंप काम किया करते थे जब मुकेश का जन्म हुआ तो वह भारत लौट आये और अपने परिवार के साथ मुंबई के जयग्रुप सोसाइटी में दो कमरों वाले एक छोटे से माकन में रहने लगे और वही से अपना पॉलिएस्टर का बिजनस स्टार्ट किया वक़्त के साथ इनका बिजनेस बढ़ता चला गया और धीरे धीरे टाटा , बिरला और 43 बिजनेस से कड़ी स्पर्धा करने के बाद बड़े स्तर पर पॉलिएस्टर उत्पादन के लिए लिनसेंसे पाने में रहे जिसके कारण उनका काम काफी बढ़ चुका था जिसका आभास उनके बेटे मुकेश अंबनी को जब हुआ तब वह MBA की पढ़ाई कर रहे थे और उन्होंने अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ कर अपने पिता की मदद करने भारत वापस लौट आये और अपने पिता के साथ बिजनेस में सहयोग करने लगे.

मुकेश अंबानी अपने समय को ले कर काफी पाबंद है वह अपना हर प्रोजेक्ट समय से पहले ही पूरा कर लेते है और अपने पिता का गुरुमंत्र Nothing Is Impossible, You Can Make It Possible का पूर्ण अनुसरण करते है जिस वजह से वह अपने हर काम को अंत एक पहुंचते है.

2002 में उन्हीने महत्वकांशी कंपनी Reliance Infocomm Limited की स्थापना की , बाद में जिसका नाम बादल कर Reliance Communication Limited कर दिया जिसकी सफलता से वे हर भारतीय के जुबान पर छा गए.

पर पिता की मृत्यु के बाद सब कुछ बदल गया और दोनों भाइयो में बिजनेस को लेकर टकराव होने लगा जिसके चलते जल्द ही वे बिजनेस में अलग हो गए पर इसका असर उनक रिश्तो पर कभी नहीं पड़ा वे आज भी साथ है.

आज मुकेश अंबानी अपने रिलायंस की महत्वकांशी जिओ प्रोजेक्ट पर काम कर रहे है जिसका उद्देश्य हर भारतीय को 4G नेटवर्क उपलब्ध करना, उनका लक्ष्य है और जिसे उन्होंने पूरा भी किया.

Hungary एक ऐसा देश जहां सबसे ज्यादा आत्महत्त्याएं होती है!

यह है दुनियाँ के सबसे विचित्र अजब गजब पेड़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.