प्रतापगढ़ का इतिहास जिसे आप अब तक नहीं जानते !

bela devi temple in pratapgarh bela devi temple in pratapgarh

प्रतापगढ़ भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश का एक जिला है इस जिले को ऐतहासिक दृष्टि से बहुत प्रसिद्ध माना जाता है, क्योकि प्रतापगढ ही वह जिला है जहा के विधान सभा क्षेत्र पट्टी से ही देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी ने पदयात्रा के माध्यम से अपना राजनैतिक करियर शुरू किया था और जहा पर प्रसिद्ध राष्ट्रीय कवि हरिवंश राय बच्चन जी का जन्म हुआ यह जिला फैजाबाद डिवीजन का एक हिस्सा है जिसका नाम इसके मुख्यालय शहर बेल्हा प्रतापगढ़ के नाम पर रखा गया यहाँ के एक स्थानीय राजा, राजा प्रतापबहादुर ,का मुख्यालय रामपुर के निकट एक पुराने कस्बे अरोर में स्थापित था जहा उन्होंने एक किले का निर्माण किया और उसका नाम अपने नाम पर यानि प्रताप का किला ( प्रतापगढ़ ) रखा. धीरे धीरे उस की आस पास के स्थानो को भी उस किले के नाम से जाना जाने लगा यानि प्रतापगढ़ के नाम से, और इस तरह प्रतापगढ़ शहर का निर्माण हुआ

प्रतापगढ़ की प्रसिद्धी

प्रतापगढ़ , उत्तर प्रदेश के 72 वां जिले के रूप में जाना जाता है इसे लोग बेल्हा भी कहते है क्योकि यहाँ सई नदी के किनारे बेल्हा देवी मंदिर है जो की काफी प्रसिद्ध माना जाता है इस धाम को लेकर कई किवदंतियां ( इतिहास ) हैं जिसके चलते बेल्हा मंदिर आस पास के राज्यों में काफी प्रसिद्ध है. जहा पर जनपद से ही नहीं बल्कि कई और जिलों के लोग भी बेल्हा माँ के दर्शन को आते है.

भौगोलिक विस्तार

प्रतापगढ सन 1858 में अस्तित्व में आया प्रतापगढ क़स्बा जिले का मुख्यालय है और साथ ही यह इलाहबाद जिला का हिस्सा भी है यह जिला इलाहबाद , फैजाबाद के मुख्य सड़क पर 61 किलोमीटर इलाहबाद से और 31 किलोमीटर सुल्तानपुर से दूर पड़ता है.

मानसून

प्रतापगढ़ में मानसून अप्रैल महीने के पहले सप्ताह से ही शुरू हो जाता है और गर्मी का मौसम भी यहाँ पर मार्च के आखरी सप्ताह में शुरू हो जाता है लेकिन अधिक गर्मी मई जून में होती है और जुलाई तक मौसम ठंडा होने लगता है प्रतापगढ जिले में गर्मियों में अधिकतम तापमान 46 डिग्री और सर्दियों में लगभग 3 डिग्री के आस पास होता है.

जनसँख्या

भारतीय जनगणना 2011 के अनुसार प्रतापगढ जिले की जनसँख्या 3,20,141 है. यहाँ पर 1000 पुरषो पर 994 महिलाएँ है जोकि जनसँख्या की दृष्टि से यदि देखी जाए तो बाकी शहरो के मुकाबले बहुत अच्छी है.

साक्षरता

2010 में किये गए सर्वे में आकड़े बताते है की 74144 लोग निरक्षर है इनमें 15 वर्ष से अधिक उम्र के युवा महिला एवं पुरुष शामिल हैं. 2016 के सरकारी आकड़े के अनुसार प्रतापगढ़ का साक्षरता के क्षेत्र में प्रदेश में 29 वां स्थान है.

शैक्षणिक संस्थान
  1. एम.डी .पी.जी. कॉलेज, इलाहाबाद- फैजाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग, प्रतापगढ़, उ. प्र.
  2. के. पी. हिन्दू इंण्टर कॉलेज
  3. तिलक अन्तर कॉलेज
  4. हेमवती नंदन बहुगुरा पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री कॉलेज लालगंज
  5. अबुल कलमा इंण्टर कालेज
  6. सीनियर बेसिक बाल विद्या पीथ नगर, छतौना,
  7. भद्रेश्वर इंण्टर कॉलेज, डेरवा
उल्लेखनीय लोग
  1. हरिवंश राय बच्चन
  2. सुमित्रानंदन पंत
  3. मनोज तिवारी
  4. श्वेयता तिवारी
  5. रवि तिपाठी
न्यूज पेपर
  1. टाइम ऑफ़ इंडिया
  2. डेलीन्यूज
  3. कॉम्पैक्ट
  4. आई नेक्स्ट
  5. सहारा
  6. दा हिन्दू
  7. हिन्दुस्तान
  8. दैनिक जागरण

3 thoughts on “प्रतापगढ़ का इतिहास जिसे आप अब तक नहीं जानते !

  • 11/11/2018 at 8:00 PM
    Permalink

    Iski vajah se hamari pidhi ko purana itihaas pata chalega. Thanks for this important paragraph

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.