बरमूडा ट्रायंगल का रहस्य Mystery Of Bermuda Triangle In Hindi

Bermuda Triangle the most mysterious place

इस विज्ञान युग की सदी में जहाँ अलौकिकी शक्तियों के लिए कोई जगह नहीं और जहाँ विज्ञानं के पास हर तरह के सवालों के जवाब है ऐसे युग में कुछ ऐसे भी रहस्य और सवाल है जिनके जवाब विज्ञानं के भी पास नहीं ऐसा ही एक सवाल है बरमूडा ट्रायंगल का जिसके बारे में हम ने सुना है की वहाँ जाने वाला वयक्ति कभी लौट कर नहीं आता माना की यह बात थोड़ी अजीब है लेकिन फिर भी यह प्राकर्तिक का एक भयानक सच है क्युकी धरती पर यदि ऐसे कोई जगह है और जहाँ से कभी कोई लौट कर वापस नहीं आता तो आखिर कैसे वहाँ के सच का सबूत लाया जाए और कैसे साबित किया जाए की असल में बरमूडा ट्रायंगल एक रहस्मय जगह है.

बरमूडा ट्रायंगल क्या है.what is Bermuda Triangle ?

बरमूडा ट्रायंगल अटलांटिक महासागर का एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ पर समुंद्री जहाज और हवाईजहाजों के रहस्मयी रूप से लापता होने की बाते कही जाती है लेकिन आधिकारिक तौर पर ऐसी किसी भी जगह का कोई अस्तित्व नहीं पर खास बात यह है की यदि ऐसी कोई जगह नहीं तो आखिर समुंद्री जहाज इस की सीमा में आते ही आखिर कहा लापता हो जाती है ,बरमूडा ट्रायंगल के तीन बिंदु है बरमूडा द्वीप ,अमेरिका के फ्लोरिडा राज्य का मियामी शहर और प्यूर्टो रीको राज्य का सान जुआन टापू .इसका क्षेत्रफल लगभग ७ लाख वर्ग किलोमीटर में फैला है.

क्या यह सच में एक रह्स्म्यी दरवाजा है या सिर्फ लोगो की कल्पना.

धरती पर मौजूद सबसे रहस्मय और खतरनाक स्थानों में गिना जाने वाला बरमूडा ट्रायंगल को शैतानो का टापू ,जहन्नम का दरवाजा और स्वर्ग का द्वार आदि नामों से जानते है लोगो का कहना है की यह जगह शापित है लोग ये भी कहते है की इस समुन्द्र के अंदर एक शैतान है जो की अपने शिकार को कभी नहीं छोड़ता, क्या वाक़ई यह जगह शापित है या सिर्फ लोगो की कल्पना है.

About Bermuda Triangle

दूसरी ओर जो इस रहस्य का हल ढूढ़ रहे है उनका कहना है, की यहाँ पर पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण और यहाँ का चंबकीये चैत्र इतना शक्तिशाली है की जिसमे जहाज इत्यादि खींचे चले जाते है या फिर उनका रेडार सिस्टम काम करना बंद कर देता है इससे पाइलेट्स भटक जाते है और फिर दुर्घटनाग्रस्त हो जाते है कुछ लोग तो यह भी मानते है की उस एरिया में मीथेन गैस का प्रचंड भण्डार है जिसके कारण वहाँ से काफी मात्रा में विस्फोट होते है जो की पानी के कमी में घनत्व करता है जिससे की जहाज आदि इसमें समां जाते है और यहाँ से निकलने वाली गैस आसमान में उड़ने वाली जहाज़ों को अपने चपेट में ले लेती है.

रहस्मयी दुर्घटना.(Bermuda Triangle Mystery)

ऐसा नहीं की यहाँ पर होनी वाली घटनाओ का किसी के पास जवाब नहीं यदि इस क्षेत्र में 1945 में होने वाली अमेरिकी सेना के हवाई जहाजों के लापता होने वाली घटनाओ को छोड़ दे तो बाकि सभी दुर्घटनाओं के संतोसजनक कारक उपलब्ध है.

यदि सच में यहाँ पर होने वाली घटना बाकी घटनाओ से अलग नहीं तो बरमूडा ट्रायंगल को रहस्मई क्षेत्र क्यों कहा जाता है? क्यों इसे नर्क का दवार कहते है ?

इसका मुख्य कारण एक तो वह लोग है जोकि अपने निजी स्वार्थ के लिए बरमूडा ट्रायंगल से जुडी घटनाओ को बड़ा चढ़ा कर बताते है और दूसर वे लोग जो ऐसे सनसनीख़ेज कहानियो पर विश्वास करते है खैर ये सारी बातें अफवाह है या हक़ीक़त यह तो कोई नहीं जानता लेकिन यह तो तय है की बरमूडा ट्रायंगल में हो रही घटनाओ का जवाब एक दिन हमारे वैज्ञानिको के पास जरूर होगा.

5 सितम्बर 1945 में हुई अमेरिकी नौसेना के टारपीडो वायुसेना की घटना.Bermuda Triangle History

यह दुर्घटना बरमूडा ट्रायंगल पर होने वाली पहली दुर्घटना है जो की यदि न हुई होती तो शायद ही हमे बरमूडा ट्रायंगल जैसे रहस्मयी जगह के बारे में कभी पता चलता.

दुर्घटना कुछ ऐसे थी की 5 सितम्बर 1945 को अमेरिकी नौसेना के पांच टारपीडो विमान अपनी रोज़ के ट्रेनिंग के लिए उड़ान भरते है उन्हें 120 मील की दूरी तय करके वापस आना था जहा से उन्हें गुजरना था वो बरमूडा ट्रायंगल के रास्ते में पड़ती है पाँचो पायलटो के उड़ान भरने के लगभग एक घंटे के बाद कंट्रोल रूम के मुख्य पायलटो को यह संदेश दिया की वे कही खो गए है और उनका कम्पास काम नहीं कर रहा और उसके कुछ समय बाद ही उनका कंट्रोल रूम से संपर्क टूट गया इसके बाद कंट्रोल रूम को मुख्य पायलट द्वारा दूसरे पायलटो का दिया गया एक आदेश मिला जिसमे वह उनसे कह रहे थे की हमारा ईंधन खतम हो गया है सभी पायलेट कूदने की तयारी करले.

जैस कंट्रोल रूम को इस खबर के बारे में पता चला उन्होंने PBM-5 वायुयानो को भेज कर उन्हें खोजने की तैयारी शुरू करदी इनमे से एक उड़ान भरते समय ही विस्फोट कर गया और दूसरा उन पांच जहाजों को नहीं खोज पाता. इसके बाद इनके साथ एक मैरीनर फ्लाइट बोट को भी खोज के लिए भेजा गया यह मैरीनर फ्लाइट बोट उड़ने के साथ समंदर में तैर भी सकती थी पर उड़ान भरने के कुछ समय बाद ही ये हवा में ही विस्फोट कर गया और इसका कोई भी अंश नहीं मिला. इसकी जानकारी तब हुई जब  समुन्दर में तैर रही ज़हाओ को आसमान में करीब शाम 7 बजकर 50 मिनट एक धमाका देखा .

Bermuda Triangle the most mysterious place

पांच हवाई जहाजो के गुमशुदगी के एक दिन बाद एक और मह्त्वपूण सुचना प्राप्त हुई जिसमें की उन जहाजों के पास ही एक और जहाज उड़ रही थी जिसे राबर्ट कॉक्स चला रहे थे जिन्हे भी सकट में फसे
जहाज का सन्देश प्राप्त हुआ था राबर्ट कॉक्स ने बताया की वे किसी छोटे से द्वीप के ऊपर उड़ रहे थे उन्हें वहाँ उसके अतरिक्त को और भूमि नज़र नहीं आयी बाद में इस हादसे की जांच की सच्चाई पता चली की पायलेट अपने रुट पर नहीं थे, बल्कि यदि वे अपने तय रास्ते पर होते तो वहा उन्हें एक नहीं बल्कि कई द्वीप देखने थे जबकि ऐसा नहीं था इसके बाद उन पायलटो और उन पांच टारपीडो जहाजों का कुछ पता नहीं चल पाया न ही उन पायलटो की लाशे मिली और न ही उस जहाज का कोई मलबा मिल पाया.

इस घटना के बाद शुरू है बरमूडा तिरकोड के रहस्य का किस्सा किसी का कहना है की उन जहाजों को एलियंस ने पकड़ लिया तो कोई कहता है की उन तट पर पुराणी अटलांटा सभ्यता की मशीने काम कर रही है जो की विमानों को नष्ट करने वाली तरंगे छोड़ती है जब तक की असलियत का पता नहीं चलता तब तक ऐसे कहानिया बनती रहेगी.(Bermuda Triangle Mystery Solved or Not?)

हैदराबाद की आराधना ; एक 13 साल की लड़की का 68 दिनों का उपवास

सपनों के बारे में कुछ रोचक तथ्य Interesting Facts About Dreams

किस तरह होगा पृथ्वी का अंत | How earth will be destroyed

(aapko ye article kaisa laga hame comment me jaroor bataye aur new updates pane ke liye subscribe kare)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.